सच हम नहीं, सच तुम नहीं, सच है महज संघर्ष ही!

सोमवार, अगस्त 10, 2009

नीतिश कुमार भी कोई तोप नहीं !

एक शहर है...बगहा... बिहार के उत्तरी मुहाने पर स्थित....पिछले वर्ष से यहाँ गंडक नदी इस शहर को अपनी जलधारा से अपने में समाहित करती जा रही है...पिछले बरस मामला इतना संवेदनशील हो गया था की सूबे के मुखिया नीतिश कुमार ने आकर यहाँ का जायजा भी लिया था ...ठेकेदारों को हिदायत भी दी थी ...

पर इस बरस फिर ख़बर आ रही है कि शहर फिर-फिर कट रहा है.... सवाल यह उठता है कि सुशासन बाबू के हिदायतों के बावजूद घटिया निर्माण कार्य कैसे हुआ....क्या इसे मानना ग़लत होगा कि नीतिश कुमार के शासन में भी धांधली अपनी चरम पर है...

उसका सच के द्वारा जनता की आवाज़ ...

हो सकता है सुशासन बाबू सुन लें....

दरअसल ,मैंने तो इस दर्द को बड़े नजदीक से महसूसा है....

मेरे द्वारा ली गई कुछ तस्वीर
कटाव निरोधी कार्यों का जायजा लेते नीतिश कुमार

पिछले बरस कटाव के बाद बेघर ये परिवार...


और नदी के मुहाने पर नीतिश मंत्रीमंडली..

2 टिप्‍पणियां:

  1. जिस का मौका लगता है वही हाथ साफ कर जाता है.......जनता के पैसे पर उनका जन्म सिद्ध अधिकार जो है!!;)

    उत्तर देंहटाएं
  2. bhaiya ye apane desh ka badnasib hai ki ye nikkame neta hamare sir per baithe hai aur galti to hamari hai jiske bare me maine apne blog me bhi likha hai ...are chodo bhi sub so rahe hai kya pata kub jagenge hamare desh ke log ...are paise neta barbad karte hai aur tex per badhava hum log lete hai tex hamara badhata hai ..neta bislery ke siva pani nahi pite aur hamare desh ki janta bina pani ke mer rahi hai .....

    ----- eksacchai {AAWAZ }

    http://eksacchai.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं